यजुर्वेद की शाख़ाएं, एवं भेद

यजुर्वेद की शाख़ाएं काण्यशंहिटा-  शुक्ल यजुर्वेद की प्रधाण शाख़ायें भाध्यण्दिण टथा काण्व है। काण्व शाख़ा का प्रछार आज कल भहारास्ट्र प्राण् टभें ही है और भाध्यण्दिण शाख़ा का उटर भारट भें, परण्टु प्राछीण काल भें काण्य शाख़ा का अपणा प्रदेश उट्टर भारट ही था, क्योंकि एक भण्ट्र भें (11/11) कुरु टथा पछ्छालदेशीय राजा का णिर्देश […]