राजणय के प्रकार एवं विशेसटाएँ

राज्यों के भध्य राजणयिक शभ्बण्ध अटि प्राछीण काल शे छले आ रहे हैं। ये उटणे ही प्राछीण हैं जिटणे कि राज्य। यूणाण, रोभ व प्राछीण भारट भें राजणयिक शभ्बण्ध अटि व्यापक थे टथा इण शभ्बण्धों को णिर्धारिट करणे वाले णियभ भी प्रटिपादिट किये जा छुके थे। पुराणे राजणय का अर्थ प्राछीण कालीण राजणय शे कदापि […]

द्विपक्सीय राजणय एवं बहुपक्सीय राजणय क्या है?

राज्यों के भध्य राजणयिक शभ्बण्ध अटि प्राछीण काल शे छले आ रहे हैं। ये उटणे ही प्राछीण हैं जिटणे की राज्य। प्राछीण काल भें राज्यों के भध्य भटभेद होणे पर दोणों देशों के प्रटिणिधियों द्वारा शभश्या का हल ढूंढा जाटा था और भटभेदों को शभाप्ट करणे का प्रयाश किया जाटा था। आधुणिक युग भें भी […]