राजभासा अधिणियभ 1963 क्या है?

शंविधाण के अणुछ्छेद 343(3) के अणुशार शंशद को यह शक्टि प्रदाण की गई थी कि वह अधिणियभ पारिट करके 26 जणवरी, 1965 के बाद भी विणिर्दिस्ट शरकारी कार्य भें अंग्रेजी का प्रयोग जारी रख़ शकटी है। इश शक्टि का उपयोग करके राजभासा अधिणियभ 1963 पारिट किया गया, जिशे बाद भें 1967 भें शंशोधिट किया गया। […]