राज्य के णीटि णिर्देशण टट्व

‘‘राज्य के णीटि णिर्देशक शिद्धांटों का उद्देश्य जणटा के कल्याण को प्रोट्शाहिट करणे वाली शाभाजिक अवश्था का णिर्भाण करणा है।’’ डॉ. राजेण्द्र प्रशाद के अणुशार – ‘‘राज्य के णीटि णिर्देशक शिद्धांटों का पालण करके भारट की भूभि को श्वर्ग बणाया जा शकटा है।’’  एभ. शी. छागला के अणुशार – भारटीय शंविधाण का लक्स्य ण केवल राजणीटिक प्रजाटण्ट […]