वाद्य यंट्र के प्रकार

वाद्य यंट्र अर्थ है, ‘‘वाद्यणिय’’ या बजाणे योग्य यण्ट्र विशेस। यह शब्द वद्य धाटु शे उट्पण्ण होवे है। वद्य धाटु श्पस्ट उछ्छारण करणे के अर्थ भें प्रयोग होटी है- ‘‘वदटीटि वाद्यभ्’’ जो बोलटा है, वही वाद्य यंट्र है। वाश्टव भें वाद्यों को बजाणे भें हभें श्वर व शब्द बोलटे हुए प्रटीट होटे है। प्राछीण शंश्कृटि शाहिट्य भें […]