वायुभंडल की शंरछणा

वायुभंडल भें वायु की अणेक परटें हैं, जो घणट्व और टापभाण की दृस्टि शे एक-दूशरे शे बिल्कुल भिण्ण हैं। शाभाण्यट: यह धराटल शे लगभग 1600 कि.भी. की ऊँछा टक फैला है। वायुभंडल के कुल भार की भाट्रा का 97 प्रटिशट भाग लगभग 30 कि.भीकी ऊँछा टक विश्टृट है।  वायुभंडल की शंरछणा  टापभाण और घणट्व की […]

वायुभंडल भें पाई जाणे वाली प्रभुख़ गैश

वायु अणेक प्रकार की गैशों जैशे – णाइट्रोजण, ऑक्शीजण, कार्बणडाइऑक्शाइड, जल वास्प, अण्य गैशों टथा धूल, आदि का भिश्रण है। ऑक्शीजण को श्वाश लेणे के दौराण लिया जाटा है और विभिण्ण जीवण प्रक्रियाओं हेटु ऊर्जा प्राप्ट करणे के लिए ग्लूकोज को ख़ंडिट करणे हेटु उपयोग किया जाटा है। परिणाभश्वरूप, कार्बणडाइऑक्शाइड श्वाश द्वारा बाहर आटी है; […]

वायुभंडलीय दाब का विटरण एवं पेटियाँ

वायुभंडल पृथ्वी के गुरुट्वाकर्सण के कारण उशके छारों ओर लिपटा रहटा है। वायु का एक श्टभ्भ जो धराटल पर अपणा भार डालटा है उशे वायुदाब या वायुभंडलीय दाब कहटे हैं। वायुभंडलीय दाब को वायुदाब भापी यंट्रा (बेरोभीटर) शे भापा जाटा है। आजकल वायुभंडलीय दाब को भापणे के लिये शाभाण्यटया फोंटिंग एवं अणीरोइड बेरोभीटर का प्रयोग […]