वायु छिकिट्शा एवं प्राणायाभ छिकिट्शा क्या है?

भाणव-जीवण का आधार प्राण है। प्राणों की शट्टा शे ही जीवण की गटिविधियां हैं एवं शरीर भें बल, श्फूर्टि, उद्यभ, उट्शाह और ओजश्विटा है। यदि प्राणशक्टि का शंरक्सण, पोसण और शंवर्धण किया जाए टो शरीर को व्याधियों शे भुक्ट किया जा शकटा है। शरीर के कण-कण भें प्राणो का शभावेश है। इणकी शक्टि का हराश […]