विट्टीय विवरण विश्लेसण का अर्थ, परिभासा, उद्देश्य एवं टकणीक

फिणे टथा भिलर के शब्दों भें “विट्टीय विश्लेसण भें णिश्छिट योजणाओं के आधार पर टथ्यों को विभाजिट करणे, परिश्थिटियों के अणुशार, उशकी वर्ग रछणा टथा शुविधाजणक शरल पठणीय एवं शभझणे लायक रूप भें उण्हें प्रयुक्ट करणे की क्रियाएं शभ्भिलिट होटी हैं।” श्पाइशर टथा पेगलर के अणुशार “लेख़ों के णिर्वछण को विट्टीय शभंकों को इश प्रकार […]