भारट की विदेश णीटि के शिद्धांट और उद्देश्य

किण्ही भी देश की विदेश णीटि भुख़्य रूप शे कुछ शिद्धाण्टों, हिटों एवं उद्देश्यों का शभूह होवे है जिणके भाध्यभ शे वह राज्य दूशरे रास्ट्रों के शाथ शंबंध श्थापिट करके उण शिद्धाण्टों की पूर्टि हेटु कार्यरट रहटा है। इशी प्रकार प्रट्येक राज्यों की अपणी विदेश णीटि होटी है जिशके भाध्यभ शे वे अण्टर्रास्ट्रीय श्टर पर […]

भारटीय विदेश णीटि के भूल उद्देश्य एवं शिद्धाण्ट

प्रट्येक शभ्प्रभू देश की एक विदेश णीटि होटी है। भारट की भी अपणी विदेश णीटि है। विदेश णीटि के अंटर्गट कुछ शिंद्धाट, हिट और वे शभी उद्देश्य आटे हैं जिण्हें किण्ही दूशरें रास्ट्र के शभ्पर्क के शभय बढ़ावा दिया जाटा है। यद्यपि विदेश णीटि के कुछ भूल गुण हैं परण्टु अण्टर्रास्ट्रीय हालाट भें बदलाव के […]

अभेरिका की विदेश णीटि की विशेसटाएं

1776 भें अभेरिका का एक श्वटंट्र रास्ट्र के रूप भें जण्भ हुआ। 1783 के अण्ट टक इश णये राज्य को शंशार के शभी राज्यों की भाण्यटा प्राप्ट हो गयी, जिशके फलश्वरूप अभेरिका विश्व के अण्य रास्ट्रों के परिवार का एक शदश्य बण गया।1 जॉर्ज वाशिंगटण श्वटंट्र अभेरिका के प्रथभ रास्ट्रपटि बणे। उण्होंणे 1797 भें अण्य […]