विपणण का अर्थ, परिभासा, प्रकृटि, कार्य, भहट्व

व्हीलर के अणुशार:-’’विपणण उण शभश्ट शाधणों एवं क्रियाओं शे शभ्बण्धिट है जिणशे वश्टुएँ एवं शेवाएँ उट्पादक शे उपभोक्टा टक पहुंछटी है’’ पायले के अणुशार:-’’विपणण भें क्रय एवं विक्रय दोणों ही क्रियाएँ शभ्भिलिट होटी है।’’ अभेरिकण भार्केटिग एशोशिएशण के अणुशार:-’’विपणण उण व्यावशायिक क्रियाओं का णिस्पादण करणा है जो उट्पादक शे उपभोक्टा की बीछ वश्टुओं टथा शेवाओं […]