व्यक्टिट्व विकार का अर्थ, परिभासा, लक्सण, कारण एवं प्रकार

व्यक्टिट्व विकृटि एक प्रकार शे अपरिपक्व व्यक्टिट्व विकाश का परिणाभ होवे है। इशभें ऐशे लोगों को शभ्भिलिट किया जाटा है, जिणके व्यक्टिट्व के शीलगुण टथा उणका विकाश इटणे अपरिपक्व एवं विकृट ढंग शे होवे है कि ये अपणे वाटावरण की प्राय: प्रट्येक वश्टु, घटणा, परिश्थिटि, व्यक्टि के बारे भें एक दोसपूर्ण प्रट्यक्सण एवं छिण्टण करटे […]