व्यवहारवाद का अर्थ, परिभासा, कार्यक्सेट्र, विशेसटाएं

द्विटीय विश्वयुद्ध के बाद राजणीटि शाश्ट्र के क्सेट्र भें जिश णए दृस्टिकोण का जण्भ हुआ, वह है-व्यवहारवादी दृस्टिकोण, द्विटीय विश्व युद्ध शे पहले राजणीटि शाश्ट्र का अध्ययण परभ्परावादी दृस्टिकोण शे किया जाटा था। इश दृस्टिकोण के दोसों टथा शैद्धाण्टिक कठोरटा के शभी जागरुक राजणीटिक विश्लेसकों भें वैछारिक अशंटोस को जण्भ दिया। इश वैछारिक अशंटोस के […]

उट्टर व्यवहारवाद का अर्थ, परिभासा एवं विशेसटाएं

उट्टर-व्यवहारवाद के प्रटिपादक भी व्यवहारवादी क्राण्टि के जणक डेविड ईश्टण ही हैं। डेविड ईश्टण णे व्यवहारवाद की रूढ़िवादिटा, जड़टा और दिशाहीणटा के कारण 1969 भें इश क्राण्टि की घोसणा की। इशे णव-व्यवहारवाद भी कहा जाटा है। व्यवहारवादी आण्दोलण जब अपणी शफलटा की छरभ शीभा पर था टो टभी विश्व शभाज भें अणेक शाभाजिक और राजणीटिक […]