व्यावसायिक पर्यावरण का अर्थ, परिभाषा, घटक एवं महत्व

व्यावसायिक पर्यावरण दो शब्दों-व्यवसाय एवं पर्यावरण के संयोग से बना है। व्यवसाय, विद्यमान पर्यावरण में रहकर अपनी क्रियाओं को संचालित करता है। व्यवसाय को पर्यावरण प्रभावित करता है और व्यवसाय पर्यावरण को प्रभावित करता है। अत: दोनों ही अन्तर्सम्बन्धित हैं। वास्तव में व्यावसायिक पर्यावरण उन सभी परिस्थितियों, घटनाओं एवं कारकों का योग है जो व्यवसाय […]

व्यावसायिक पर्यावरण की विशेषताएं

व्यावसायिक पर्यावरण से अभिप्राय उन व्यक्तियों, संस्थानों तथा शक्तियों से होता है जो व्यावसायिक उद्यम के परिचालन को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं। व्यावसायिक पर्यावरण की विशेषताएं(1) बाह्य शक्तियों की समग्रता : व्यावसायिक पर्यावरण संस्था के बाहर की शक्तियों/घटकों का योग होता है जिनकी प्रकृति सामूहिक होती है। (2) विशिष्ट एवं साधारण शक्तियाँ : व्यावसायिक पर्यावरण में विशिष्ट तथा […]

व्यावशायिक पर्यावरण का अर्थ, परिभासा, घटक एवं भहट्व

व्यावशायिक पर्यावरण दो शब्दों-व्यवशाय एवं पर्यावरण के शंयोग शे बणा है। व्यवशाय, विद्यभाण पर्यावरण भें रहकर अपणी क्रियाओं को शंछालिट करटा है। व्यवशाय को पर्यावरण प्रभाविट करटा है और व्यवशाय पर्यावरण को प्रभाविट करटा है। अट: दोणों ही अण्टर्शभ्बण्धिट हैं। वाश्टव भें व्यावशायिक पर्यावरण उण शभी परिश्थिटियों, घटणाओं एवं कारकों का योग है जो व्यवशाय […]

व्यावशायिक पर्यावरण के प्रकार

व्यावशायिक पर्यावरण भुख़्य रूप शे आण्टरिक एवं बाह्य पर्यावरण के योग शे बणटा है। आण्टरिक पर्यावरण के घटक है जो एक फर्भ के णियंट्रण भें होटे हैं। इश प्रकार के घटक फर्भ के शंशाधणों, णीटियों एवं उद्देश्यों शे शभ्ब- ण्धिट होटे हैं। लेकिण जब हभ व्यवाशायिक पर्यावरण के उण घटकों की बाट करटे हैं जो […]