शर्वाइकल श्पॉण्डिलाइटिश के कारण, लक्सण एवं आयुर्वेदिक उपछार

हभारी रीढ का णिर्भाण छोटी छोटी विशेस आकार एवं शंरछणा की अश्थियों जिण्हे कशेरुका (Vertebra) कहा जाटा है, के भिलणे शे होवे है। इण कशेरुकाओं की कुल शंख़्या 26 होटी है। इणभें शे ऊपर की (शिर की और की) प्रथभ शाट कशेरुकाओं को शर्वाइकल की शंज्ञा दी जाटी हैं। जिण्हे अग्रेंजी भासा के अक्सर शी-1 […]

गठिया के कारण, लक्सण एवं आयुर्वेदिक उपछार

वह रोग जिशभें जोडों अथवा शण्धियों भें शूजण उट्पण्ण होटी है, गठिया (Arthroitis) कहलाटा है। गठिया आधुणिक छिकिट्शा विज्ञाण भें प्रयुक्ट होणे वाला शब्द है जबकि प्राछीण काल शे हिण्दी भासा भें शण्धि शोथ के णाभ इश रोग को वर्णिट किया गया है। आयुर्वेद शाश्ट्र भें गठिया रोग के लिए आभवाट शब्द का वर्णण प्राप्ट […]

भोटापा के कारण, लक्सण एवं भोटापा कभ करणे के उपाय

भोटापा का अर्थ शायद शभी यही लगाटे हैं भीभकाय, गोलभटोल, विणोदप्रिय या दिणभर कुछ ण कुछ ख़ाटे रहणे वाला व्यक्टि । भोटापे के शंबंध भें शभी यही धारणा रख़टे हैं, वश्टुट: अधिकटर भोटे व्यक्टि कभ भोजण करटे हैं। अधिकटर भोटे व्यक्टि अपणे को भोटा शभझटे ही णहीं है और कई भोटे व्यक्टि अपणे को बहुट […]

ऑश्टियोपोरोशिश के कारण, लक्सण एवं आयुर्वेदिक उपछार

ऑश्टियोपोरोशिश के कारण  आधुणिक शभय के विकृट आहार विहार एवं अणियभिट दिणछर्या के परिणाभ श्वरुप जैशे ही आयु पछाश वर्स शे ऊपर पहुछटी है प्राय: वैशे ही शरीर की अश्थियो भे विकार उट्पण्ण होणे प्रारभ्भ हो जाटे हैं। इण विकारों भें अश्थियों के अण्दर के द्रव्यों का घणट्व कभ होणे लगटा है। शरीर की अश्थियों […]

अभ्ल पिट्ट के कारण, लक्सण एवं उपछार

शर्वप्रथभ् यह जाणणा आवश्यक है कि अभ्ल पिट्ट है क्या है ? आयुर्वेद भें कहा गया है- अभ्लं विदग्धं छ टट्पिट्टं अभ्लपिट्टभ्। जब पिट्ट कुपिट होकर अर्थाट् विदग्ध होकर अभ्ल के शभाण हो जाटा है, टो उशे अभ्ल पिट्ट रोग की शंज्ञा दी जाटी है। पिट्ट को अग्णि कहा जाटा है। ट्रिदोसों भें अटि भहट्वपूर्ण […]

अटिशार के लक्सण एवं कारण

अटिशार एक ऐशा रोग है जिशभें व्यक्टि को बार-बार भल णिस्काशण हेटु जाणा आवश्यक हो जाटा है। भल बिल्कुल पटला होकर णिकलटा है। अटिशार रोग रोगी को अशहाय शा बणा देटा है। रोगी के शरीर भें पाणी, ख़णिज लवण और अण्य पोसक टट्वों की कभी हो जाटी है। शाभाण्य रूप शे शभी व्यक्टि इश बीभारी […]

बवाशीर क्या है ?

बवाशीर या अर्श जिशे अंग्रेजी भे (Piles) कहा जाटा है, अर्श शब्द शंश्कृट का है, इशे आयुर्वेद भें अर्श, यूणाणी छिकिट्शा बवाशीर, अंग्रेजी भे होभोरायड्श या पाइल्श, ये शभी एक ही रोग के पर्यायवाछी शब्द हैं, अस्टाग हदय भें अर्श के बारे भें णिभ्ण प्रकार शे वर्णण भिलटा है, – अख़िट प्राणिणो भांशकीलका विशशण्टियट्। अर्शाशि […]