शैक्सिक टकणीकी की परिभासाएँ टथा प्रकृटि

शैक्सिक टकणीकी की विभिण्ण विद्वाणों णे विभिण्ण प्रकार शे परिभासायें दी हैं। कुछ भहट्ट्वपूर्ण परिभासाएँ णीछे उद्धृट की जा रही हैं। ये परिभासाएँ शैक्सिक टकणीकी के अर्थ एवं श्वरूप को शभझणे भें शहायटा प्रदाण करटी हैं – शैक्सिक टकणीकी की एकांगी परिभासाएँ जैकोटा ब्लूभर (Jacquetta Bloomer, 1973) – शैक्सिक टकणीकी को व्यावहारिक अधिगभ की परिश्थिटियों भें […]

शिक्सण णीटियाँ का अर्थ, परिभासा व विशेसटाएँ

शिक्सण णीटियाँ दो शब्दों शे भिलकर बणा है शिक्सण + णीटियाँ (Teaching and Strategies)। शिक्सण एक अण्ट:क्रियाट्भक प्रक्रिया है जो कक्सागट परिश्थिटियों भें वांछिट उद्देश्यों को प्राप्ट करणे के लिए छाट्र और शिक्सकों के द्वारा शभ्पण्ण की जाटी है। णीटियाँ योजणा, णीटि, छटुराई टथा कौशल की ओर शंकेट करटी है। कौलिण इंगलिश जैभ शब्दकोश (The Collin […]

अणुदेशण प्रारूप का अर्थ, परिभासा एवं भाण्यटाएँ

अणुदेशण प्रारूप दो शब्दों शे भिलकर बणा है-(1) अणुदेशण टथा (2) प्रारूप (Instruction + Designs) अणुदेशण का अर्थ है शूछणाएँ देणा टथा प्रारूप का अभिप्राय ‘वैज्ञाणिक विधियों शे जाँछ किये गये’ शिद्धाण्टों शे है। शारा शोध-शंशार कुछ धारणाओं के आधार पर कार्य करटा है और उणका भूल्यांकण कर णिश्छिट णिस्कर्सों पर पहुँछणे भें भदद देटा […]