Category Archives: शीत युद्ध

शीत युद्ध के कारण और इसके प्रभाव

शीतयुद्ध की अवधारणा का जन्म द्वितीय विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद 1945 में हुआ, यह अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्धों की एक सच्चाई है जो अमेरिका तथा सोवियत संघ के पारस्परिक सम्बन्धों को उजागर करती है। यह द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद के अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का एक नया अध्याय है। इसे एक नया अंतर्राष्ट्रीय राजनीतिक विकास का नाम भी… Read More »

शीत युद्ध के अंत के कारण

एक लंबे समय तक अंतर्राष्ट्रीय संबंधों को प्रभावित करने वाली शीत युद्ध की अवधारणा 1985 ई. के बाद समाप्त होती दिखाई देने लगी, द्वितीय विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद दो महाशक्तियों के बीच तनाव का जो वातावरण था, वह शांति के वातावरण में बदलता प्रतीत होने लगा। यद्यपि शीत युद्ध में 1970 में भी कमी… Read More »