Category Archives: श्रम कल्याण प्रशासन

मजदूरी से संबंधित अधिनियम

श्रमिकों के लिए केवल मजदूरी की मात्रा ही महत्वपूर्ण नहीं होती, बल्कि उसकी अदायगी के तरीके, मजदूरी-भुगतान के अंतराल, उससे कटौतियां तथा उसके संरक्षण से संबद्ध अन्य कई बातें भी महत्वपूर्ण होती है। मजदूरी की संरक्षा से संबद्ध कानूनों के बनाए जाने के पहले मजदूरी के भुगतान में कई तरह के अनाचार हुआ करते थे।… Read More »

कर्मचारी राज्य बीमा अधिनियम 1948 क्या है?

कर्मचारी राज्य बीमा अधिनियम 1948 कुछ महत्त्वपूर्ण परिभाषाएँ  समुचित सरकार- केन्द्रीय सरकार या रेलवे-प्रशासन के नियंत्रण में प्रतिष्ठानों, महापत्तनों, खानों या तेलक्षेत्रों के संबंध में समुचित सरकार केन्द्रीय सरकार तथा सभी प्रतिष्ठानों के संबंध में समुचित सरकार राज्य सरकार है। कर्मचारी- ‘कर्मचारी’ का अभिप्राय ऐसे व्यक्ति से है, जो अधिनियम के अधीन आने वाले किन्ही कारखाना… Read More »

कर्मचारी लाभ से संबंधित कानून और नियम

श्रमिक क्षतिपूर्ति संशोधित अधिनियम, 1984  यह अधिनियम मार्च 1923 में पारित किया गया और 1 जुलाई 1924 से लागू हुआ। इसमें अब तक बहुत बार संशोधन किये जा चुके है। और अन्तिम संशोधन 1984 में किया गया है। इन संशोधनों का उद्देश्य अधिनियम के सीमा-क्षेत्र को बढ़ाना व व्यवस्था को अधिक उपयोगी तथा प्रभावशाली बनाना… Read More »