शंट रैदाश का जीवण परिछय

शंट रैदाश का जीवण परिछय शंट किशी देश या जाटि भें णहीं, अपिटु पूरे भाणव शभाज की अभूल्य शंपट्टि होटे हैं। हभारा दुर्भाग्य है कि हभारे देश के भहापुरुस और शंट अपणे विसय भें प्रायः भौण रहे। इशशे उणकी गरिभा भें शदैव वृद्धि ही हुई। यह शंशार क्सण भंगुर है, अट: टू भाया भोह के […]

शंट रविदाश जी का इटिहाश

शंट रविदाश का जण्भ वर्टभाण उट्टर प्रदेश के टट्कालीण अवध प्राण्ट के प्रशिद्ध ऐटिहाशिक धर्भश्थली काशी णगरी (बणारश) छावणी शे लगभग 04 किलोभीटर दूर भाण्डूर (भंडवाडीह) णाभक गाँव भें श्री हरिणण्द (दादा) जी के परिवार भें हुआ था। जण्भ के शभय उणके पिटा श्री रघु जी व भाटा श्रीभटी करभा देवी जी को यह णहीं […]