Category Archives: समाज

शिक्षा का समाज पर प्रभाव एवं स्थान

1. शिक्षा व समाज का स्वरूप – शिक्षा का प्रारूप समाज के स्वरूप् को बदल देती है क्योंकि शिक्षा परिवर्तन का साधन है। समाज प्राचीनकाल से आत तक निरन्तर विकसित एवं परिवर्तित होता चला आ रहा है क्येांकि जैसे-जैसे शिक्षा का प्रचार-प्रसार होता गया इसने समाज में व्यक्तियों के प्रस्थिति, दृष्टिकोण , रहन-सहन, खान-पान, रीति-रिवाजों… Read More »

भारतीय समाज का उद्भव एवं विकास

भारत विविध सामाजिक और सांस्कृतिक तत्वों का संश्लेषण कहा जाता है। यह आर्य और द्रविड़ संस्कृतियों का सम्मिश्रण है। इस संश्लेषण के फलस्वरूप गांव, परिवार, जाति और विधि व्यवस्था में एकता पाई जाती है। प्राचीनकाल से आज तक भारतीय समाज की निरन्तरता इस संश्लेषण द्वारा बनी हुई है। मोहनजोदड़ो (2500 ईसा पूर्व) से लेकर बौद्ध,… Read More »

समाज का अर्थ, परिभाषा एवं वर्गीकरण

लोगों के एक विशेष समूह का निश्चित उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए एकत्रित रहना ही समाज कहलाता है। समाज के भूमि की सीमा निश्चित नहीं है। समाज अपने व्यक्तियों के सुख-सुविधाओं एवं आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु स्वत: ही निर्मित हो जाता है। समाज मनुष्यों का वह समूह है जो इस भू-मण्डल पर निवास करता है… Read More »

समाज का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएं एवं प्रमुख तत्व

समाज शब्द संस्कृत के दो शब्दों सम् एवं अज से बना है। सम् का अर्थ है इक्ट्ठा व एक साथ अज का अर्थ है साथ रहना। इसका अभिप्राय है कि समाज शब्द का अर्थ हुआ एक साथ रहने वाला समूह। मनुष्य चिन्तनशील प्राणी है। मनुष्य ने अपने लम्बे इतिहास में एक संगठन का निर्माण किया… Read More »

समाज का शिक्षा पर प्रभाव

समाज का शिक्षा पर प्रभाव – शिक्षा पर समाज के प्रभाव को नकारा नहीं जा सकता है, क्योंकि समाज शिक्षा की व्यवस्था करता है। इस प्रभाव को जा सकता है- समाज का शिक्षा पर प्रभाव 1. समाज के स्वरूप का प्रभाव –  समाज के स्वरूप का शिक्षा की पकृति पर प्रभाव पड़ता है, जैसा समाज… Read More »

उपेक्षित समाज का अर्थ, परिभाषा और स्वरूप

उपेक्षा शब्द का अर्थ -’उदासीनता, लापरवाही, विरक्ति, किसी को तुच्छ अथवा नगण्य समझना, अयोग्य जानकर ध्यान न देना या सत्कार न करना है । तो उपेक्षित का अर्थ- जिसकी उपेक्षा की गई हो, अनादर किया हुआ, तिरस्कृत आदि है । और उपेक्ष्य शब्द का अर्थ -’’उपेक्षा के योग्य, घृणा के योग्य’’ है । उपेक्षा एवं… Read More »