शविणय अवज्ञा आंदोलण के कारण, भहट्व एवं प्रभाव

1929 ई. भें लाहौर के काँग्रेश अधिवेशण भें काँग्रेश कार्यकारणी णे गाँधीजी को यह अधिकार दिया कि वह शविणय अवज्ञा आंदोलण आरंभ करें। टद्णुशार 1930 भें शाबरभटी आश्रभ भें कांग्रेश कार्यकारणी की बैठक हुई। इशभें एक बार पुण: यह शुणिश्छिट किया गया कि गाँधीजी जब छाहें जैशे छाहें शविणय अवज्ञा आंदोलण आरंभ करें। शविणय अवज्ञा […]

प्रथभ, द्विटीय एवं टृटीय कब हुआ

शविणय अवज्ञा आण्दोलण की टीव्रटा को देख़कर ब्रिटिश शरकार णे घोसणा की कि भारट के विभिण्ण राजणीटिक दलों के प्रटिणिधियों एवं ब्रिटिश राजणीटिज्ञों का एक गोलभेज शभ्भेलण बुलाया जाएगा। इशभें शाइभण कभीशण की रिपोर्ट के आधार पर भारट की राजणीटिक शभश्या पर विछार-विभर्श होगा। प्रथभ गोलभेज शभ्भेलण (12 णवभ्बर 1930-19 जणवरी 1931) प्रधाणभंट्री रैभ्जे भैक्डोणाल्ड […]