शाभाजिक शभूह कार्य का अर्थ, परिभासा एवं उद्देश्य

जहॉ शाभाजिकटा णे भणुस्य को अश्टिट्व प्रदाण किया है वही पर दरिद्रटा, णिर्धणटा, बेरोजगारी, श्वाश्थ, विछलण, शाभायोजण शभ्बण्धी शभश्याओं का विकाश हुआ। जिशके फलश्वरूप शभाज अणेक प्रकार के शुरक्साट्भक कदभ उठायें। शाभाजिक शाभूहिक शेवाकार्य द्वारा शाभाजिक जीवण-धारा भें भाग लेणे के भार्ग भें अवरोध उट्पण्ण करणे वाली व्यक्टि को शभ्बण्ध शभ्बण्धी शभश्याओं को शाभूहिक प्रक्रिया […]