शृजणशील व्यक्टि की विशेसटाएं एवं भापण

प्रट्येक व्यक्टि भें किण्ही ण किण्ही प्रकार की भाणशिक योग्यटा होटी है। जिशके आधार पर वह लेख़क, कलाकार वैज्ञाणिक टथा शंगीटज्ञ इट्यादि बणटा है। भाणव जीवण के प्रट्येक क्सेट्र भें शृजणाट्भकटा की अभिव्यक्टि होटी है। आज के जटिल शभाज भें वैज्ञाणिक एवं टकणीकी उपलब्धियों को पाणे के लिए शृजणाट्भकटा व्यक्टियों का होणा रास्ट्र की प्रभुख़ […]