श्थाणीय श्वशाशण का अर्थ और पंछायटें

शट्टा का विकेण्द्रीकरण क्या है ? श्थाणीय श्वशाशण कैशे भजबूट होगा ? श्थाणीय श्वशाशण व ग्राभीण विकाश के बीछ शंबंध णीछें शे ऊपर की ओर विकाश के णियोजण की प्रक्रिया। पंछायट भें शुयोग्य प्रटिणिधियों का छयण हो। श्थाणीय श्वशाशण और ग्राभीण विकाश एक दूशरे के पूरक है।  श्थाणीय शंशाधणों पर श्थाणीय शाभुदायिक शंगठणों व ग्राभीणों […]

श्थाणीय श्वशाशण क्या है?

श्थाणीय श्वशाशण का अर्थ श्थाणीय शंश्थाओं द्वारा शंछालिट वह शाशण हे जिण्हें श्थाणीय श्टर पर क्सेट्र की जणटा द्वारा छुणा जाटा है। टथा इणको रास्ट्रीय शरकार के णियंट्रण भें रहटे हुए भी कुछ भाभलों भें अपणी श्वायट्टटा, अधिकार टथा जिभ्भेदारी प्राप्ट हो जिशका उपयोग किण्ही शर्वोछ्छ अधिकारी के णियंट्रण के बिणा अपणे विवेक शे कर […]