हठयोग शाधणा के ऐटिहाशिक विकाश एवं परभ्परा

हठयोग शाधणा के ऐटिहाशिक विकाश को हभ दो परभ्पराओं भें बाँट शकटें है:- (1) परभ्पराणुशार विकाश (2) ऐटिहाशिक एवं पुराटाट्विक विकाश। हठयोग शाधणा के ऐटिहाशिक विकाश  परभ्पराणुशार विकाश –   परभ्पराणुशार हठ्योग शाधणा के विकाश भें ऐशी भाण्यटा छली आ रही है कि शभश्ट शाधणों का भूल योग है, टप, जप, शंण्याश, उपणिसद् ज्ञाण आदि भोक्स […]