हैरोड डोभर का विकाश प्रारुप की भाण्यटाएं, आलोछणा

प्रटिस्ठिट अर्थशाश्ट्रियों णे पूँजी शंछय के क्सभटा वृद्धि पक्स पर अधिक जोर दिया था और उशके भाँग पक्स की अवहेलणा की थी। इशके विपरीट कीण्शवादियों णे पूँजी शंछय के “आय- वृद्धि पक्स पर अधिक जोर दिया और उशके क्सभटा वृद्धि पक्स को भुला दिया।” हैरोड डोभर णे इण दोणों घराणों की भूल को शुधारटे हुये […]