Category Archives: 2nd Grade

समाजिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक, एवं धार्मिक दृष्टि से दरभंगा की जिन्दगी

  दरभंगा अतीत काल से ही समाजिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक, एवं धार्मिक  दृष्टि से मिथिलांचल का दिल रहा है। यहाॅ की जीवन्ता से ही मिथिलांचल की जिन्दगी का पता चलता रहा है। राजा जनक एवं सीता की यह धरती मानवता को नई राह दिखाने का जो चराग रौशन किया था वह आज भी दुनिया में फैल रही… Read More »

ओसाका में भारतः सुदृढ़ व संतुलित

 ओसाका में भारतः सुदृढ़ व संतुलित भारत ने ओसाका में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन में डिजिटल व्यापार, भ्रटाचार विरोधी नियम एवं पर्यावरण नीतियों से लेकर आर्थिक उन्नति तक अनेक मुद्दों पर कड़ा रुख अपनाया। पूर्व राजदूत भस्वति मुखर्जी ने कुछ मुख्य बिंदुओं का उल्लेख किया वैष्विक अर्थव्यवस्था के संचालन के लिए जी20 के रूप में… Read More »

Career in Law Sector

 नई अर्थव्यवस्था ने जहां रोजगार के कई नए अवसर पैदा किए हैं वहीं पुराने प्रोफेशन में भारी बदलाव भी हुआ है। नए स्वरूप में विकसित होते इन क्षेत्रों में वकालत भी एक है। अब वकालत का प्रोफेशन काले गाउन और कोर्ट रूम तक सीमित नहीं रहा। बड़े-बड़े संस्थानों में लॉयर्स ने लॉ एक्जीक्यूटिव, लॉ आफीसर, लॉ काउंसलर तथा… Read More »

ग्लैमर एमबीए का मिशन एडमिशन

मिशन एडमिशन के तहत इस बार आईआईएम द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षा कैट 2006 पर विस्तृत जानकारी दी जा रही है। इसमें इस क्षेत्र के एक्सप‌र्ट्स बी-स्कूलों की प्रवेश परीक्षा के सभी पहलुओं के बार में दे रहे हैं विशेष टिप्स.. इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले युवाओं के लिए बेहद उपयोगी साबित… Read More »

मोदी से आगे बुद्धदेव

मोदी  एक ऐसे राज्य के मुख्यमंत्री है जहां पर उनकी पार्टी पिछले ३१ सालों से सत्ता में है और आम शोषित वर्ग के लिए काम करती है। लेकिन यह पूरा सच नहीं है कहानी और भी जहां हिंसा ,बलात्कार और खून का तांडव नृत्य खेला गया और यह जगह है नंदीग्राम। आज नंदीग्राम से पूरी… Read More »

मंगल बड़ा और लाल

19 दिसंबर की रात मंगल ग्रह पृथ्वी के सबसे नजदीक होगा, इसलिए नजारा अपने आप में अनोखा होगा। दूसरे तारों के मुकाबले इसका आकार कुछ बड़ा होगा, चमक ज्यादा रहेगी वह भी लाल। सौर परिवार के सभी ग्रहों की दूरी पृथ्वी से इतनी अधिक है कि शुक्र के अलावा बाकी को देखना संभव नहीं है।… Read More »

बहु संश्लेषण की प्रक्रिया द्वारा वर्ग संख्या

बहु संश्लेषण की प्रक्रिया द्वारा वर्ग संख्या सामूहिक ‘योजक’ निर्देश विभिन्न विषयों की तालिकाओं में अनेक स्थानों पर मिल जाते हैं। निम्नलिखित उदाहरणों में सामूहिक ‘योजक’ निर्देशों का पालन करते हुए संश्लेषित वर्ग संख्या का निर्माण किया गया है:(a) शीर्षक First aid in heart diseases की वर्ग संख्या का निर्माण करने के लिए सर्वप्रथम तृतीय… Read More »

शीर्षक – प्रायोगिकी की पत्रिका

 शीर्षक – प्रायोगिकी की पत्रिका Journal of Technology 605खण्ड दो की अनुसूची में Serial Publictions of Technology का अंकन 605 (V2, P824) दिया गया है। इस शीर्षक में भी मुख्य आधार अंक 600 से दोनों शून्य अंकों को छोड़कर शेष अंक 6 के साथ मानक उपविभाजन अंकन 05 को जोड़ा गया है।6 + 05 =… Read More »

ग्रन्थांक निर्माण करने के पक्ष-परिसूत्र का उल्लेख

ग्रन्थांक निर्माण करने के पक्ष-परिसूत्र का उल्लेख इस भाग में वर्गीकरण की विभिन्न अनुसूचियों का उल्लेख है। वर्ग संख्याओं का निर्माण करने के लिये संबंधित अनुसूचियों से एकल संख्यायें प्राप्त की जाती हैं।अध्याय 02 में ग्रन्थांक निर्माण करने के पक्ष-परिसूत्र का उल्लेख है तथा ग्रन्थांक में प्रयोग में लाये जाने वाले रूप (Form) उप विभाजनों… Read More »

अंकन के प्रकार (Type of Notation) विषयों / प्रलेखों को सहायक अनुक्रम

अंकन के प्रकार (Type of Notation) विषयों / प्रलेखों को सहायक अनुक्रम अर्थात विषयों / प्रलेखों को सहायक अनुक्रम में व्यवस्थित करना है । अंकन के द्वारा प्रत्येक प्रलेख को एक वर्ग संख्या प्रदान की जाती है, जिसके अनुसार वर्गीकृत व्यवस्था यंत्रवत बन जाती है | इस व्यवस्था का लाभ यह है कि पाठक दवारा… Read More »