Category Archives: b.ed

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. (1) गुप्त काल में जिलों का शासन –  प्रान्तों से छोटी इकाई प्रदेश कहलाती थी जो आजकल की कमिश्नरी के बराबर होती थी और इससे छोटी इकाई विषय कहलाती थी जो जिले के बराबर होती थी। विषयों का शासन विषयपति कुमारामात्य अथवा महाराज करते थे। विषयपति की… Read More »

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए।

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए। (ii) पुस्तपाल पुस्तपाल का कार्य अक्षपटलिक की सहायता में रहते हुए राज्य के आदेशों का लेखा रखना था।(iii) गाप – यह गाँव की आय व्यय का हिसाब रखता था ।(iv) गौल्पिक – यह वन विभाग के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत था।(v) शौकिक – इसका कार्य चुंगी… Read More »

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. इस विवरण से स्पष्ट है कि निसंदेह गुप्त सम्राट मन्त्रियों की सलाह या सहायता से शासन चलाते थे। यह भी अनुमान किया जाता है कि सभी प्रकार के विभागों को मंत्रियों के अधीन कर दिया जाता था और उसका उत्तरदायित्व उसी सम्बन्धित मंत्री पर छोड़ दिया जाता… Read More »

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए।

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए। गुप्त साम्राज्य में गुप्त सम्राटों ने शासन की व्यवस्था को अत्यन्त सुदृढ़ बनाया। गुप्त शासकों की शासन व्यवस्था बहुत ही उच्च स्तर की थी। एक विशाल साम्राज्य, उत्तरी भारत की राजनीतिक एकता, महान् सम्राटों की उपस्थिति, कुशल शासन, हिन्दू धर्म का पुनरुत्थान और विकास, संस्कृत भाषा की… Read More »

खारवेल की तिथि तथा उसकी उपलब्धियों के बारे में आप क्या जानते है?

खारवेल की तिथि तथा उसकी उपलब्धियों के बारे में आप क्या जानते है? कलिंग की पूर्वस्थिति—कलिंग का सम्राट खारवेल एक इतिहास प्रसिद्ध व्यक्ति है। उसका व्यक्तित्व आकर्षित एवं पराक्रमी रहा है। जहाँ तक कलिंग के इतिहास का प्रश्न है। इसके बारे में कहा जाता है कि इसका इतिहास बहुत ही अनिश्चित है। ऐसा माना जाता… Read More »

कनिष्क के उत्तराधिकारियों के शासनकाल का एक संक्षिप्त विवरण दीजिए। कुषाण वंश का भारतीय इतिहास में क्या महत्त्व है ?

कनिष्क के उत्तराधिकारियों के शासनकाल का एक संक्षिप्त विवरण दीजिए। कुषाण वंश का भारतीय इतिहास में क्या महत्त्व है ? Give a brief account of the reign of Kanishaka’s successors. What is the Importance of Kushan dynasty in Indian history.|उत्तर–अधिकाँश विद्वानों का मत है कि कनिष्क प्रथम ने 23 वर्ष तक शासन किया और उसकी… Read More »