Category Archives: Mains

महिला सषक्तिकरण एवं दलित महिलाओं की स्थितिः चुनौतियाँ एवं समाधान

 महिला सषक्तिकरण एवं दलित महिलाओं की स्थितिः चुनौतियाँ एवं समाधान भारत में स्वतन्त्रता मिलने के पहले, मध्यकाल में महिलाओं की स्थिति संतोषजनक नहीं थी। स्वतन्त्रता के बाद संविधान में किये गये अनेक प्राविधानों के जरिये महिलाओं की स्थिति में क्रमशः गुणात्मक सुधार अवश्य हुआ है परन्तु ग्रामीण क्षेत्र में अब भी वंचित समुदाय की महिलाओं… Read More »

बिहार में सरकारी दषा दयनीय

   बिहार में विगत तीन दषकों से उर्दू राज्य की दूसरी सरकारी जुबान है। लेकिन इस के बावजूद राज्य में उर्दू की दषा दयनीय है और इस के लिए किन्ही एक राजनैतिक पार्टी या सरकार को दोषी करार नहीं दिया जा सकता। क्योंकि इस तवील अरसे में कई सियासी पार्टियाॅ सत्ता में रही हैं। ज्ञातव्य… Read More »

पूर्व में भारत के मित्र

 पूर्व में भारत के मित्र भारत ‘एक्ट ईस्ट’ नीति के अंतर्गत एषिया-प्रषांत क्षेत्र के पड़ोसी देषों से मित्रता बढ़ाने पर बल दिया जा रहा है। इस नीति का आरंभ यद्यपि आर्थिक सुधार के लिए किया गया था, किंतु समय के साथ-साथ इसके तहत राजनीतिक, सामयिक एवं सांस्कृतिक आयामों में भी सुधार देखने को मिला। पूर्व… Read More »

गुप्तकाल हिन्दू धर्म के पुनरुत्थान का काल था। प्रमाणित कीजिए।

गुप्तकाल हिन्दू धर्म के पुनरुत्थान का काल था। प्रमाणित कीजिए। गुप्त कालीन आर्थिक जीवन – गुप्त साम्राज्य के विस्तृत क्षेत्र पर प्रभाव एवं आधिपत्य तथा कुशल प्रशासनिक व्यवस्था के कारण देश में शान्ति रही। इससे आर्थिक जीवन समृद्ध एवं विभिन्न साधनों की उत्पत्ति में वृद्धि हो सकी । तत्कालीन आर्थिक स्थिति से सम्बन्धित पहलुओं का… Read More »

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए।

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए।  Describe the Administration system of Gupta Empire. गुप्त शासन व्यवस्था की रूपरेखा प्रस्तुत कीजिए।Give an out line of the Gupta Administration. गुप्त साम्राज्य की आय के साधन –  राज्य की आमदनी का मुख्य स्रोत भूमि कर या लगान था जो भूमि की किस्म को देखकर 16 प्रतिशत से… Read More »

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. (1) गुप्त काल में जिलों का शासन –  प्रान्तों से छोटी इकाई प्रदेश कहलाती थी जो आजकल की कमिश्नरी के बराबर होती थी और इससे छोटी इकाई विषय कहलाती थी जो जिले के बराबर होती थी। विषयों का शासन विषयपति कुमारामात्य अथवा महाराज करते थे। विषयपति की… Read More »

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए।

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए। (ii) पुस्तपाल पुस्तपाल का कार्य अक्षपटलिक की सहायता में रहते हुए राज्य के आदेशों का लेखा रखना था।(iii) गाप – यह गाँव की आय व्यय का हिसाब रखता था ।(iv) गौल्पिक – यह वन विभाग के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत था।(v) शौकिक – इसका कार्य चुंगी… Read More »

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. इस विवरण से स्पष्ट है कि निसंदेह गुप्त सम्राट मन्त्रियों की सलाह या सहायता से शासन चलाते थे। यह भी अनुमान किया जाता है कि सभी प्रकार के विभागों को मंत्रियों के अधीन कर दिया जाता था और उसका उत्तरदायित्व उसी सम्बन्धित मंत्री पर छोड़ दिया जाता… Read More »

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए।

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए। गुप्त साम्राज्य में गुप्त सम्राटों ने शासन की व्यवस्था को अत्यन्त सुदृढ़ बनाया। गुप्त शासकों की शासन व्यवस्था बहुत ही उच्च स्तर की थी। एक विशाल साम्राज्य, उत्तरी भारत की राजनीतिक एकता, महान् सम्राटों की उपस्थिति, कुशल शासन, हिन्दू धर्म का पुनरुत्थान और विकास, संस्कृत भाषा की… Read More »

स्कंदगुप्त के पश्चात क्रमशः अन्य शासकों का विवरण

स्कंदगुप्त के पश्चात क्रमशः अन्य शासकों का विवरण भितरी अभिलेख से ज्ञात होवे है कि उसके पिता का नाम पुरुगप्त तथा माता का नाम वत्सदेवी था। यह माना जाता है कि इसका भाई बुद्धगुप्त था। अनेक इतिहासवेत्ताओं ने नरसिंहगुप्त का समीकरण ह्वेनसांग के बालादित्य से किया है क्योंकि नरसिंहगुप्त की मुद्राओं पर उसकी उपाधि बालादित्य… Read More »