Category Archives: RAS

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. (1) गुप्त काल में जिलों का शासन –  प्रान्तों से छोटी इकाई प्रदेश कहलाती थी जो आजकल की कमिश्नरी के बराबर होती थी और इससे छोटी इकाई विषय कहलाती थी जो जिले के बराबर होती थी। विषयों का शासन विषयपति कुमारामात्य अथवा महाराज करते थे। विषयपति की… Read More »

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए।

गुप्त साम्राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था का वर्णन कीजिए। (ii) पुस्तपाल पुस्तपाल का कार्य अक्षपटलिक की सहायता में रहते हुए राज्य के आदेशों का लेखा रखना था।(iii) गाप – यह गाँव की आय व्यय का हिसाब रखता था ।(iv) गौल्पिक – यह वन विभाग के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत था।(v) शौकिक – इसका कार्य चुंगी… Read More »

Describe the Salient features of the Gupta Administration.

Describe the Salient features of the Gupta Administration. इस विवरण से स्पष्ट है कि निसंदेह गुप्त सम्राट मन्त्रियों की सलाह या सहायता से शासन चलाते थे। यह भी अनुमान किया जाता है कि सभी प्रकार के विभागों को मंत्रियों के अधीन कर दिया जाता था और उसका उत्तरदायित्व उसी सम्बन्धित मंत्री पर छोड़ दिया जाता… Read More »

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए।

गुप्त प्रशासन की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए। गुप्त साम्राज्य में गुप्त सम्राटों ने शासन की व्यवस्था को अत्यन्त सुदृढ़ बनाया। गुप्त शासकों की शासन व्यवस्था बहुत ही उच्च स्तर की थी। एक विशाल साम्राज्य, उत्तरी भारत की राजनीतिक एकता, महान् सम्राटों की उपस्थिति, कुशल शासन, हिन्दू धर्म का पुनरुत्थान और विकास, संस्कृत भाषा की… Read More »

स्कंदगुप्त के पश्चात क्रमशः अन्य शासकों का विवरण

स्कंदगुप्त के पश्चात क्रमशः अन्य शासकों का विवरण भितरी अभिलेख से ज्ञात होता है कि उसके पिता का नाम पुरुगप्त तथा माता का नाम वत्सदेवी था। यह माना जाता है कि इसका भाई बुद्धगुप्त था। अनेक इतिहासवेत्ताओं ने नरसिंहगुप्त का समीकरण ह्वेनसांग के बालादित्य से किया है क्योंकि नरसिंहगुप्त की मुद्राओं पर उसकी उपाधि बालादित्य… Read More »

Determine the order of succession after Skanda Gupta.

Determine the order of succession after Skanda Gupta.  इसका अनुमान चीनी यात्री ह्वेनसांग के विवरण के आधार पर लगाया गया है कि उसकी श्रृद्धा बौद्ध के प्रति थी । ह्वेनसांग के अनुसार बुद्धगुप्त ने नालन्दा के बौद्ध विहार को दान दिया था। सारनाथ के अभिलेख से विदित होता है कि बुद्धगुप्त के शासनकाल में बौद्ध… Read More »

प्रश्न 23. स्कन्दगुप्त के पश्चात् उत्तराधिकार क्रम निश्चित कीजिए।

प्रश्न 23. स्कन्दगुप्त के पश्चात् उत्तराधिकार क्रम निश्चित कीजिए।  साक्ष्यों के अभाव के कारण स्कन्दगुप्त के पश्चात उत्तराधिकार के क्रम में मुश्किल हो जाता है। इस कालक्रम निर्धारण में विद्वानों में भी तीव्र मतभेद स्कन्दगुप्त के पश्चात् गुप्त साम्राज्य की अक्षुण्णता का प्रश्न है तो इस बारे में यह कहा जा सकता है कि स्कन्दगुप्त… Read More »

स्कन्दगुप्त की गुप्त साम्राज्य के योगदान को स्पष्ट कीजिये

स्कन्दगुप्त की गुप्त साम्राज्य के योगदान को स्पष्ट कीजिये डॉ. रतिभानुसिह नाहर के कथनानुसार ‘गुप्त सम्राटों में ही नहीं प्राचीन भारत के महान् सम्राटों में स्कन्दगुप्त की गणना की जानी चाहिए। अपने युवराजकाल में ही उसने पुष्यमित्रों को पराजित कर अपनी वीरता और साहस का परिचय दिया। उसने सिंहासनारूढ़ होने पर हुणों के आक्रमणों का… Read More »

Estimate the services of Skand Gupta to the Gupta empire both as a generald and as an administrator.

Estimate the services of Skand Gupta to the Gupta empire both as a generald and as an administrator. अल्कर ने गुप्तकालीन मुद्राएं पृष्ठ 180 पर लिखा है कि ‘स्कन्दगुप्त की प्रचलित मध्य देशीय मुद्राओं के ऊपर फैलाए हुए पंख वाले मोर का चित्र अंकित है। दूसरी ओर या तो परम भागवत् महाराजाधिराज श्रीस्कन्दगुप्त विक्रमादित्य या… Read More »

योद्धा एवं प्रशासक के रूप में स्कन्दगुप्त की गुप्त साम्राज्य के प्रति सेवाओं का मूल्यांकन कीजिए।

योद्धा एवं प्रशासक के रूप में स्कन्दगुप्त की गुप्त साम्राज्य के प्रति सेवाओं का मूल्यांकन कीजिए। (2) प्रान्तीय शासन- स्कन्दगुप्त ने अपने शासन की सुविधा के लिए अपने साम्राज्य को अनेक प्रान्तों में विभक्त कर रखा था। प्रान्त का प्रधान अधिकारी गोप्ता कहलाता था। सम्राट इन प्रान्तपतियों पर अपना कड़ा नियंत्रण और अनुशासन रखता था… Read More »