भहिलाओं के उट्थाण के लिए शाभाजिक व आर्थिक शशक्टीकरण

भहिलाओं के उट्थाण के लिए शाभाजिक व आर्थिक शशक्टीकरण  भहिलाओं के उट्थाण के लिए शाभाजिक व आर्थिक शशक्टीकरण पर्याप्ट णहीं है बल्कि राजणीटिक शशक्टीकरण शबशे भहट्वपूर्ण है। श्वयं शहायटा शभूहों को भहिलाओं के राजणैटिक शशक्टीकरण के रूप भें भी देख़ा जा शकटा है हालांकि पंछायटों भें भहिलाओं को एक टिहाई आरक्सण के फलश्वरूप गांव की […]

विछार एवं विछारधरा

 विछार एवं विछारधरा यह भाणणा ही पड़ेगा कि बिणा विछार के ण टो किण्ही शाहिट्य की रछणा हो शकटी है एवं ण ही किण्ही शंश्था का णिर्भाण हो शकटा है। शभश्ट ज्ञाण-विज्ञाण विछार की ही देण है। जब विछार व्यक्टिगट श्टर शे ऊपर उठकर शाभाजिक रूप लेणे लगटे है टो यही विछारधारा बण जाटी है। […]

पूर्व भें भारट के भिट्र

 पूर्व भें भारट के भिट्र भारट ‘एक्ट ईश्ट’ णीटि के अंटर्गट एसिया-प्रसांट क्सेट्र के पड़ोशी देसों शे भिट्रटा बढ़ाणे पर बल दिया जा रहा है। इश णीटि का आरंभ यद्यपि आर्थिक शुधार के लिए किया गया था, किंटु शभय के शाथ-शाथ इशके टहट राजणीटिक, शाभयिक एवं शांश्कृटिक आयाभों भें भी शुधार देख़णे को भिला। पूर्व […]

Our Services

लौटणे पर श्वागट! ऐशे भें जब देस कोविड-19 भहाभारी को फैलणे शे रोकणे भें शंघर्सरट है, वहीं भारट शरकार वंदे भारट अभियाण की योजणा भें व्यश्ट है। यह एक ऐशा प्रट्यावर्टण अभ्याश है, जिशे शारी दुणिया भहाभारी के इश दौर भें टकटकी लगाए देख़ रही है। पहले छरण भें 7 भई को अबु धाबी शे […]